अगर Team India का भला चाहते हैं Rohit Sharma, तो छोड़ दें टीम की कप्तानी, इन 3 बातों से हो जाता है साफ साफ स्पष्ट

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान Rohit Sharma मौजूदा समय में बहुत ही खराब फॉर्म से जूझते नजर आ रहे हैं, जिसका कहीं ना कहीं साफ असर उनकी कप्तानी पर भी नजर आ रहा है। बीते रविवार उन्हीं की सरजमीं पर भारत को बांग्लादेश के हाथों शिकस्त का सामना करना पड़ा। Team India 187 रनों का बचाव करते हुए 136 के स्कोर पर मेंजबानों के 9 विकेट लेने में कामयाब रही। लेकिन आखिरी विकेट लेने में भारतीय गेंदबाजों को संघर्ष करते देखा गया। वही 54 रनों की साझेदारी के साथ बांग्लादेश अपनी जीत दर्ज करने में कामयाब रही।

आखिरी के ओवरों के दौरान भारतीय टीम के खराब प्रदर्शन के सीधे तौर पर जिम्मेदार कप्तान रोहित शर्मा ठहराए जा सकते हैं, क्योंकि उन्होंने कुछ ऐसे फैसले लिए जिनका सीधा असर परिणाम पर पड़ा। ऐसी सिचुएशन में इस आर्टिकल के जरिए हम आपको ऐसी तीन बातों के बारे में बताएंगे, जिसके चलते रोहित शर्मा को भारतीय टीम की कप्तानी से इस्तीफा दे देना चाहिए।

कप्तानी का दबाव आ रहा है बल्लेबाजी पर नजर

जब से टीम इंडिया के तीनों फॉर्मेट में रोहित शर्मा ने कप्तानी संभाली है, तब से वह खराब फॉर्म से जूझते नजर आ रहे हैं। हिटमैन को पिच पर एक एक रन बनाने के लिए संघर्ष करते देखा जा सकता है। वह रन बनाने में नाकाम साबित हो रहे हैं। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि भारतीय टीम रोहित शर्मा के फ्लॉप होने के चलते अच्छी शुरुआत करने में भी नाकाम साबित होती है। जिसका असर मैच के नतीजों पर साफ नजर आता है।

कप्तान के खराब प्रदर्शन को देखते हुए दर्शकों में नाराजगी नजर आ रही है। टी20 वर्ल्ड कप 2022 में खेले गए 6 मुकाबलों के दौरान रोहित शर्मा 106.42 के साधारण स्ट्राइक रेट के साथ बल्लेबाजी करते हुए मात्र 116 रन बनाने में कामयाब रहे। ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के खिलाफ भी वर्ल्ड कप से पहले T20 सीरीज के दौरान रोहित का बल्ला कुछ खास कमाल नहीं दिखा सका। इस साल उनके द्वारा बहुत ही कम वनडे मुकाबले खेले गए, जिसका मूल्यांकन करना सही नहीं होगा। लेकिन इस फॉर्मेट में भी उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है।

रोहित की खराब फिटनेस बन रही दुश्मन

फिटनेस को लेकर रोहित शर्मा का स्तर काफी नीचे गिरता जा रहा है। भारत के कप्तान मौजूदा समय में खेल की मांग को देखते हुए खुद को ढालने में नाकाम रहे हैं। जिसके चलते बल्लेबाजी और फील्डिंग करने में उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए मैच के दौरान उनसे दो बार कैच पकड़ने में चूक हो गई, जिसका खामियाजा हार के रूप में टीम को भुगतना पड़ा था।

वहीं अन्य दोनों फॉर्मेट में भी रोहित टीम की कप्तानी संभाल रहे हैं। ऐसे में तीनों ही फॉर्मेट में कप्तानी करना बहुत ही मुश्किल काम है। बीते 1 साल के दौरान वह कई महत्वपूर्ण सीरीज गवां चुके हैं, ऐसे में यही सही होगा कि कप्तानी का पद रोहित शर्मा त्यागते हुए सिर्फ एक खिलाड़ी के तौर पर अपना योगदान निभा सके। जिसके चलते उनके खेल पर भी असर न पड़ सके।

भारतीय टीम को युवा कप्तान की दरकार

इस समय भारतीय टीम में कई ऐसे खिलाड़ी शामिल है जो आने वाले समय में सीमित फॉर्मेट में टीम का नेतृत्व करने की काबिलियत रखते हैं। अगर रोहित शर्मा की बढ़ती उम्र को देखा जाए तो शायद ही रोहित शर्मा 2023 वर्ल्ड कप और टी20 वर्ल्ड कप 2024 खेलने में सक्षम हो ऐसी स्थिति में कप्तानी पद से रोहित शर्मा को इस्तीफा देते हुए टीम की कमान युवा खिलाड़ियों के हाथ में सौंप देनी चाहिए।

ताकि उन खिलाड़ियों को 2 साल में कप्तानी का सही ढंग से अनुभव हो सके और टी-20 वर्ल्ड कप के लिए पूर्ण रूप से अपनी तैयारी कर सकें। हार्दिक पांड्या, ऋषभ पंत, श्रेयस अय्यर और संजू सैमसन जैसे 4 खिलाड़ियों का नाम इसमें शामिल है जिनके द्वारा रोहित शर्मा के रिप्लेस पर सफेद गेंद के खेल में भारत की कप्तानी की जा सकती है। आईपीएल के दौरान यह चारों खिलाड़ी अपनी अपनी फ्रेंचाइजी की कप्तानी करते नजर आते हैं।

Read Also:-क्या सच में महिला IPL से टीम इंडिया को होगा फायदा, दो टूक में अंजुम चोपड़ा ने दिया जवाब

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *