इन 5 दिग्गज Cricketers के संन्यास के समय पूरी दुनिया की आंखों में छलछला उठे आंसू

क्रिकेट एक ऐसा खेल होता है, जिसके साथ किसी भी फैंस की बहुत सी भावनाएं जुड़ी होती हैं। इसके साथ ही एक Cricketers को भी भगवान की तरह ही पूजा जाता है। जब भी किसी खिलाड़ी के द्वारा क्रिकेट से अलविदा लिया जाता है, तो सबसे ज्यादा दुख उसके फैंस को ही होता है।

क्रिकेट के इतिहास में कई बार ऐसा सामने आया, कि जब भी किसी खिलाड़ी के द्वारा सन्यास लिया गया, तो उसके आखिरी मुकाबले के दौरान पूरी दुनिया दुखी होते हुए खूब रोई थी। आज इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे ही 5 खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे, जिनके आखिरी मैच के दौरान स्टेडियम में मौजूद उनके फैंस भाव विभोर हो उठे थे‌। आइए डालते हैं ऐसे ही खिलाड़ियों पर एक नजर।

सचिन तेंदुलकर

क्रिकेट के भगवान कहलाने वाले सचिन तेंदुलकर के कार्यकाल के दौरान उन्हें पूरी दुनिया का बहुत सारा प्यार मिला। यहां तक कि स्थिति ऐसी थी, कि सचिन के संन्यास लेने के बाद करोड़ों की मात्रा में फैंस उन पर अपनी मोहब्बत लुटाते रहे, और भगवान समझकर उनकी पूजा भी करते रहे।

मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में वेस्टइंडीज के खिलाफ सचिन तेंदुलकर ने अपना अंतिम मुकाबला 14 नवंबर साल 2013 में खेला था। उस समय सचिन को खेलते देखने के लिए पूरा जनसैलाब उमड़ पड़ा था। सचिन के चाहने वाले उनके फैंस स्टेडियम में उन्हें खेलते हुए देख रो पड़े थे।

लसिथ मलिंगा

श्रीलंका क्रिकेट टीम के पूर्व स्पिनर लसिथ मलिंगा अपने कार्यकाल के दौरान कई कारनामे कर चुके हैं। दुनिया भर में उनके करोड़ों की मात्रा में फैंस मौजूद हैं, जब अपने क्रिकेट करियर के दौरान उन्होंने अपना आखिरी मुकाबला खेला था, तो प्रमोदासा स्टेडियम में फैंस की आंखों में आंसुओं का सैलाब उमड़ पड़ा था। साल 2019 में उनके द्वारा अपने क्रिकेट करियर का आखिरी मैच बांग्लादेश के खिलाफ खेला गया था।

लसिथ मलिंगा को उनके फैंस क्रिकेट टीम की जर्सी में देख भावुक हो उठे थे। श्रीलंका की तरफ से लसिथ मलिंगा द्वारा 226 वनडे, 30 टेस्ट और 84 टी20 मैच खेलते हुए क्रमशः 101 विकेट, 338 विकेट और 107 विकेट चटकाने में कामयाब रहे।

ब्रायन लारा

अपने बेहतरीन खेल से क्रिकेट को एक नया रुख प्रदान करने वाले वेस्टइंडीज के महान बल्लेबाज ब्रायन लारा अपनी राष्ट्रीय टीम के लिए बेहद ही कमाल का प्रदर्शन कर चुके हैं। अपने क्रिकेट करियर का आखिरी मैच उनके द्वारा इंग्लैंड के खिलाफ खेला गया था।

21 अप्रैल साल 2007 को अपना आखिरी मैच खेलते हुए ब्रायन लारा ने सिर्फ 18 रन बनाए थे। उनके इस विदाई मैच को देखने के बाद उनके चाहने वालों का दिल टूट गया था। ब्रायन लारा द्वारा 131 टेस्ट मैच के दौरान 11953 रन बनाए गए, जबकि वनडे की 289 पारियों में उनका बल्ला 10405 रन बनाने में कामयाब रहा।

मुथैया मुरलीधरन

दुनिया के सबसे सफलतम गेंदबाजों में शामिल मुथैया मुरलीधरन द्वारा अपने क्रिकेट करियर का आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच भारत के खिलाफ खेला गया था। उन्होंने भारत के खिलाफ अपने क्रिकेट करियर का आखिरी मुकाबला खेलते हुए 8 विकेट हासिल किए थे। इस मुकाबले के दौरान ही अपने टेस्ट करियर के वह 800 विकेट पूरे कर सके थे। तीनों ही फॉर्मेटों में इस खिलाड़ी के नाम 1347 विकेट दर्ज है। वही इस खिलाड़ी केे क्रिकेट करियर का विदाई मैच देखने के बाद दर्शकों की आंखों में आंसू आ गए थे।

सौरव गांगुली

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली अपने रिटायरमेंट मुकाबले को यादगार बनाने में नाकाम साबित हुए। 6 नवंबर साल 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने टेस्ट करियर के दौरान 113वें मुकाबले की दूसरी पारी में यह खिलाड़ी बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गया था। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से सौरव गांगुली के जाने के बाद मैदान पर मौजूद तमाम प्रशंसकों की आंखों में आंसू छलछला उठे थे। हालांकि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद भी ये खिलाड़ी कई सालों तक आईपीएल के माध्यम से क्रिकेट से जुड़ा रहा। इसी के साथ टेस्ट क्रिकेट में वह 7212 रन बनाने में कामयाब रहे वही 311 वनडे मैच के दौरान उनका बल्ला 11363 रन बनाने में कामयाब रहा।

Read Also:-IND A vs BAN A: फील्डर ने फेंका डायरेक्ट थ्रो, लेकिन क्रीज से बाहर अभिमन्यु ईश्वरन फिर भी इंडिया A के कप्तान को दे दिया नॉट आउट

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *