कपिल देव पर सचिन तेंदुलकर का बड़ा बयान, मास्टर ब्लास्टर के बारे में कह दी ये हैरान कर देने वाली बात

भारत के लिए रनों की झड़ी लगाने वाले महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को भारत के क्रिकेट में भगवान का दर्जा दिया जाता है। लेकिन टीम इंडिया को 1983 में वर्ल्ड कप का खिताब दिलाने वाले कप्तान कपिल देव खिलाड़ी को एक महान बल्लेबाज नहीं मानते हैं। इतना ही नहीं इसके पीछे खुद कपिल देव ने एक चौंकाने वाली वजह का खुलासा किया है। जिस वजह को जानकर हर भारतीय फैंस काफी ज्यादा हैरान रह जाएगा।

Read More : बैंकॉक पहुंचीं सचिन तेंदुलकर की लाड़ली, सोशल मीडिया पर शेयर की कातिलाना तस्वीरें

दोनों के बीच नहीं है अच्छा बांड

बता दें कि कपिल देव और सचिन तेंदुलकर के बीच रिश्ते ज्यादा बेहतर नहीं है। साल 2000 में सचिन तेंदुलकर भारत के कप्तान थे। टैब5 कपिल।देव टीम इंडिया के कोच थे तब तेंदुलकर का कपिल देव के साथ विवाद हुआ था। जिसका सचिन ने अपनी किताब प्लेइंग इट माय वे में जिक्र भी किया है।

सचिन तेंदुलकर ने अपनी किताब में कहा था कि साल 2000 के ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर कपिल के बर्ताव से निराश थे। तेंदुलकर ने लिखा है कि खुद को रणनीतिक फैसला में शामिल नहीं करते थे कपिल देव की सोच थी कि टीम को कप्तान के हवाले करना चाहिए।

सचिन को नहीं मानते महान बल्लेबाज

कपिल देव ने 2 साल पहले यूट्यूब पर inside-out शो में भारतीय महिला क्रिकेट टीम के पूर्व कोच डब्ल्यू वी रमन के साथ बातचीत करते हुए कहा था कि तेंदुलकर ने दोहरा और तिहरा शतक लगाने की काबिलियत नहीं थी। कपिल देव ने कहा था कि सचिन तेंदुलकर को यह पता नहीं था कि शतक को 200 और 300 रनों में कैसे बदला जाता है।सचिन टैलेंटेड बल्लेबाज थे। बता दें कि सचिन तेंदुलकर के नाम टेस्ट क्रिकेट में एक भी तिहरा शतक दर्ज नहीं है।

मुझे जानकर हैरान रह जाएंगे आप

कपिल देव ने कहा था कि तेंदुलकर जिस तरह के बल्लेबाज हैं उसे देखा जाए तो उन्हें अपने करियर में कम से कम तीन तिहरे शतक जड़ने चाहिए थे। इसके अलावा 10 दोहरे शतक ठोकने चाहिए थे ।लेकिन सचिन तेंदुलकर शतक के बाद सिंगल रन देना शुरू कर देते थे

जबकि उन्हें शतक के बाद और ज्यादा आक्रामक तरीके से बल्लेबाजी करनी चाहिए थी। बता दे कि तेंदुलकर ने अपने करियर में वनडे क्रिकेट खेलते हुए 18426 और टेस्ट क्रिकेट खेलते हुए 15921 रन बनाए हैं। जबकि सचिन के नाम 100 अंतरराष्ट्रीय शतक शामिल हैं।

Read More : 16 महीने से अपनी वापसी का इंतजार कर रहा है ये सलामी बल्लेबाज,सचिन तेंदुलकर-वीरेंद्र सहवाग का हैं बेहतरीन कॉम्बिनेशन

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *