ख़राब फॉर्म या चोट ? जानिए आखिर किस वजह से चहल का कटा टीम से पत्ता

साल बदला भारतीय क्रिकेट टीम में काफी कुछ बदला टी-20 का कप्तान भी बदल गया। भारतीय टीम में बदलाव होकर विराट की जगह रोहित शर्मा को मिली तो वहीं भारतीय स्पिन गेंदबाजी में भी काफी बदलाव सामने नजर आया। जहां 1 साल पहले तक वनडे का T20 फॉर्मेट में चहल के नाम का डंका बजता था। उनकी जगह अब इस खिलाड़ी के आने के बाद खतरे में बढ़ती हुई नजर आ रही है। बता दें कि न्यूज़ीलैंड टीम में मौके ना मिलने की वजह से इस तरीके के कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही इस खिलाड़ी का क्रिकेट करियर खत्म हो सकता है।

Read More : वर्ल्ड क्रिकेट का “बॉस” बना भारत, 52 साल के क्रिकेट इतिहास में बना ये बड़ा रिकॉर्ड, आप भी डाल लीजिये एक नजर

खिलाड़ी की वजह से चौपट हो सकता है चहल का करियर

दरअसल चहल ने अपना आखिरी वनडे मुकाबला 10 दिसंबर 2022 को गुवाहाटी के मैदान में खेला था। श्रीलंका के खिलाफ खत्म हुई वनडे सीरीज का पहला मुकाबला था जिसके तुरंत बाद ही चहल चोटिल हो गए थे और तब से लेकर के अब तक ही खिलाड़ी प्लेइंग इलेवन में अपनी वापसी को दर्ज नहीं करा पाए हैं दरअसल चहल की प्लेइंग इलेवन में जगह ना मिलने की सबसे बड़ी वजह कुलदीप को माना जा रहा है। जो इस समय टीम इंडिया के लिए काफी ज्यादा किफायती गेंदबाज साबित हो रहे हैं।

कुलदीप और चहल में से कौन है बेहतरीन

श्रीलंका के खिलाफ दूसरे वनडे मुकाबले में कुलदीप चहल की जगह पर मौका मिला और उन्होंने पूरी तरीके से इस मौके का फायदा भी उठाया पता नहीं कि श्रीलंका के खिलाफ दो वनडे मुकाबले खेलते हुए खिलाड़ी ने पांच विकेट लिए हैं। हालांकि इन पांच विकेट को सिर्फ उन्होंने 67 रनों के नुक़सान पर ही पूरा किया है तो वही चहल ने श्रीलंका के खिलाफ पहले वनडे में 10 ओवर में 1 विकेट को लेने में 58 रन गँवा दिए थे।

दोनों ही खिलाड़ियों का वनडे

चहल ने भारत के लिए जहां अभी तक 74 वनडे मुकाबले खेले हैं तो वहीं उन्होंने 8.18 की इकनॉमी रेट के साथ में विकेट लेने का काम किया है। वही बात अगर कुलदीप की बात करे तो कुलदीप ने अभी तक 75 वनडे मुकाबले खेले हैं जहां उन्होंने 5.18 की इकनॉमी रेट के साथ 124 विकेट लिए हैं।

Read More : Ranji Trophy: भारतीय क्रिकेट में पसरा मातम, 28 साल के इस खिलाड़ी ने दुनिया को कहा अलविदा

 

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *