टेस्ट सीरीज में टीम के असली हकदार थे यह 3 खिलाड़ी, केएल राहुल को चांस दे BCCI से हो गई बड़ी गलती

14 दिसंबर से भारत और बांग्लादेश के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला चट्टोग्राम में खेला जाना है, जिसमें टीम इंडिया वनडे सीरीज के दौरान 2-1 से मिली हार के बाद अब इस टेस्ट सीरीज में जीत हासिल करने के लिए प्रयास करेगी। कप्तान रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में इसका नेतृत्व केएल राहुल के द्वारा किया जाएगा, हालांकि राहुल को पिछले साल साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैच में कप्तानी करने का चांस मिल सका था।

जिसमें भारतीय टीम को शिकस्त झेलनी पड़ी। ऐसी सिचुएशन में उनकी मौजूदा फार्म काफी चिंताजनक विषय बनी हुई है। क्योंकि राहुल द्रविड़ के जैसे ही यह तीन खिलाड़ी बड़ी बड़ी पारियां खेलने की काबिलियत रखते हैं। आइए जानते हैं ऐसे ही 3 धुरंधर खिलाड़ियों के बारे में।

पृथ्वी शॉ

मौजूदा समय में टीम इंडिया से बाहर चल रहे भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ घरेलू सीरीज के दौरान अपनी बेहतरीन बल्लेबाजी के चलते जमकर रन बनाने में कामयाब साबित हो रहे हैं। टेस्ट मैच खेलने की काबिलियत रखने वाले इस खिलाड़ी को केएल राहुल की जगह शामिल किया जा सकता है।

साल 2018 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने पहले ही डेब्यू टेस्ट मैच में शतक जड़ते हुए पृथ्वी शॉ ने अपना शानदार आगाज किया था। डेब्यू टेस्ट में शतक जड़ते ही पृथ्वी शॉ इस खास लिस्ट में शामिल हो गए थे। साल 2022 में वह आस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना आखिरी मुकाबला खेले उसके बाद से अब तक उन्हें कोई भी चांस नहीं दिया गया।

सरफराज खान

काफी लंबे समय से घरेलू क्रिकेट में बेहतरीन और धुआंधार प्रदर्शन कर रन बनाने वाले भारतीय युवा खिलाड़ी सरफराज खान की तुलना ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी डॉन ब्रैडमैन से की जाती है, क्योंकि अपने दमदार प्रदर्शन के चलते घरेलू क्रिकेट में रनों का अंबार लगाते हुए सरफराज खान ने ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट के इस महान खिलाड़ी को पछाड़ दिया है।

बेहद खराब फॉर्म से जूझ रहे केएल राहुल के रिप्लेस पर सरफराज खान को डेब्यू का चांस दिया जा सकता था, क्योंकि फर्स्ट क्लास क्रिकेट में सरफराज ने 35 मैचों की 45 पारियों में 70.60 की बेहतरीन औसत से बल्लेबाजी करते हुए 2949 रन बनाए हैं। इसके साथ-साथ सरफराज का सर्वाधिक स्कूल इस दौरान नाबाद 301* रहा है।

करुण नायर

भारतीय टीम के बल्लेबाज करुण नायर क्रिकेट में तिहरा शतक जड़ने वाले सिर्फ दूसरे भारतीय बल्लेबाज है, जो ईशान किशन की डबल सेंचुरी के बाद से सुर्खियों में छाए हुए हैं।

साल 2017 से इस खिलाड़ी को टीम इंडिया में चांस नहीं दिए जा सके। अंतरराष्ट्रीय करियर में अब तक करुण नायर को मात्र 6 टेस्ट और 2 वनडे ही खेलने का चांस मिल सका। जिसमें टेस्ट में उनके द्वारा अब तक 374 और वनडे के 2 मैचों में 46 रन बनाने में कामयाब रहे। ऐसी सिचुएशन में करुण नायर को केएल राहुल के रिप्लेस पर शामिल किया जा सकता था।

Read Also:-BAN vs IND: पुजारा-श्रेयस की धुआंधार बल्लेबाजी ने तोड़ी बांग्लादेश के गेंदबाजों की कमर, पहले दिन के खेल में बनाए 278 रन

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *