बीसीसीआई चयनकर्ताओं की राजनीति का शिकार हुए यह 3 खिलाड़ी, Team India में श्रीलंका के खिलाफ चयन के थे हकदार

साल की शुरुआत में ही 3 जनवरी को भारतीय सरजमीं पर भारत और श्रीलंका के बीच 3, T20 और इतने ही मैचों की वनडे श्रृंखला होने वाली है। जिसके लिए 16 सदस्यीय टीम (Team India) का ऐलान किया जा चुका है। इस सीरीज में रोहित शर्मा, विराट कोहली को आराम और केएल राहुल को छुट्टी की मंजूरी दी जा चुकी है।

वनडे सीरीज से एक बार फिर रोहित शर्मा की वापसी होने वाली है। इसके साथ-साथ बीसीसीआई द्वारा कई युवा खिलाड़ियों को भी T20 सीरीज के लिए 16 सदस्य टीम में चांस दिया गया है। इसके साथ ही इस चयन के हकदार माने जा रहे कई खिलाड़ी पूरी तरह से नजरअंदाज कर दिए गए हैं। आइए जानते हैं ऐसे ही तीन खिलाड़ियों के बारे में।

रजत पाटीदार

आईपीएल के जरिए अपनी पहचान बनाने वाले मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज रजत पाटीदार घरेलू क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन करते नजर आ रहे हैं। अभी हाल ही में उनके द्वारा सैयद मुस्ताक अली और विजय हजारे ट्रॉफी में बेहतरीन प्रदर्शन किया गया। इस खिलाड़ी को साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में शामिल किया गया था, लेकिन उन्हें इस दौरान सिर्फ एक ही मुकाबला खेलने का चांस मिला।

जिसमें वह बेहतरीन प्रदर्शन करने में नाकाम रहे। वही पिछली 10 पारियों के दौरान 156 के शानदार स्ट्राइक रेट की सहायता से 455 रन बनाने में कामयाब रहे, उनका बल्ला से इस दौरान चार अर्धशतक और एक शानदार शतक जड़ा गया।

पृथ्वी शॉ

भारतीय टीम में लगातार नजरअंदाज किए जा रहे पृथ्वी शॉ घरेलू लीग में बेहतरीन प्रदर्शन करते नजर आ रहे हैं। इस साल पृथ्वी सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी और विजय हजारे ट्रॉफी में बेहतरीन प्रदर्शन कर चुके हैं। इसी साल 16 मैचों में 169.7 के स्ट्राइक रेट से वह 539 रन बनाने में कामयाब रहे। इस दौरान उनके बल्ले से एक शतक और दो अर्धशतक जड़े गए। वहीं 2022 के आईपीएल के दौरान भी उनका प्रदर्शन काफी बेहतरीन रहा था। इसके बाद भी चयनकर्ताओं द्वारा लगातार इस खिलाड़ी को नजरअंदाज किया जाता रहा है।

यशस्वी जायसवाल

पिछले कुछ सालों से भारत के घरेलू लीग में अपने बल्ले से कहर बरपाने वाले स्टार खिलाड़ी यशस्वी जयसवाल को अब तक भारत के लिए खेलने का चांस नहीं मिल सका है। यशस्वी के घरेलू क्रिकेट में प्रदर्शन की बात की जाए, तो विजय हजारे और सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के जरिए उन्होंने सबको सहुत प्रभावित किया है। लेकिन उनकी इस प्रतिभा को चयनकर्ताओं के द्वारा लगातार नजरअंदाज किया जाता रहा।

आपको बता दें कि यशस्वी अब तक 43 मुकाबलों की 41 पारियों में 133.8 के स्ट्राइक रेट से 953 रन बनाने में कामयाब रहे। इस दौरान उनका बल्ला चार अर्धशतकीय पारियां बनाने में कामयाब रहा। पिछले साल जहां आईपीएल के दौरान 16 पारियों में उन्होंने 131.3 के स्ट्राइक रेट से 425 रन बनाए थे। सिचुएशन को देते हुए कहा जा सकता था, कि श्रीलंकाई टीम के खिलाफ उनका चयन किया जा सकता है।

Read Also:-दिन-रात सड़क पर बिताने वालों लोगों ने बचाई पंत की जान, बस ड्राइवर की मदद से पहुंचे अस्पताल

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *