5 ऐसे क्रिकेटर जो अपने करियर के दौरान बदल बैठे अपना धर्म, भारतीय भी हैं लिस्ट में शामिल

\Cricket: दुनिया के सबसे मशहूर खेलो में से एक क्रिकेट के खेल में एक से बढ़कर एक शानदार क्रिकेटर हुए हैं। इनमें से कई खिलाड़ी तो ऐसे रहे, जिन्होंने अपने देश को छोड़कर किसी और देश के लिए खेला। वहीं दूसरी तरफ कुछ ऐसे भी क्रिकेटर सामने आए, जिनके द्वारा अपने जीवन की शुरुआत तो किसी और धर्म से की गई, लेकिन कुछ ही सालों के बाद उनके द्वारा अपने धर्म का परिवर्तन करते हुए नया धर्म अपनाया गया। तो आइए इस आर्टिकल के जरिए 5 ऐसे खिलाड़ियों के बारे में बात करेंगे, जिनके द्वारा अपना धर्म परिवर्तन किया गया।

मोहम्मद युसुफ (पाकिस्तान)

पाकिस्तानी क्रिकेट इतिहास के सबसे शानदार बल्लेबाजों में शामिल मोहम्मद यूसुफ का नाम भी इस लिस्ट में शामिल है। यह खिलाड़ी अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी से कई कीर्तिमान स्थापित कर चुका है। ईसाई परिवार में जन्मे इस खिलाड़ी का नाम यूसुफ योहाना था।

जोकि पाकिस्तानी क्रिकेट टीम में चौथे गैर मुस्लिम खिलाड़ी के रूप में शामिल हुए थे। उनके द्वारा सईद अनवर से प्रभावित होकर तबलीगी जमात में अपनी मौजूदगी दिखाते हुए साल 2005 में इस्लाम धर्म को अपनाया गया। जिसकी जानकारी उन्होंने कुछ समय बाद दी।

सूरज रणदीव (श्रीलंका)

सूरज रणदीव को श्रीलंका के स्पिन ऑलराउंडर के तौर पर टीम में शामिल किया गया था। वह 31 वनडे और 12 टेस्ट मैचों सहित श्रीलंका के लिए 7 T20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले भी खेल चुके हैं। मुस्लिम परिवार में जन्मे सूरज रणदीव का नाम मरशूक मोहम्मद सूरज था। मरशूक साल 2010 में बौद्ध धर्म को अपनाते हुए अब सूरज रणदीव बन गए हैं। आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से खेल चुके सूरज रणदीव अपने जीवन यापन के लिए आस्ट्रेलिया में बस ड्राइवरी करते हैं।

वेन पार्नेल (दक्षिण अफ्रीका)

मौजूदा समय में दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज वेन पार्नेल दक्षिण अफ्रीकी टीम के लिए गेंदबाजी आक्रमण की जिम्मेदारी संभालते नजर आते हैं। 33 वर्षीय वेन पार्नेल अपने बल्ले से बेहतरीन प्रदर्शन करते नजर आते हैं। वहीं ईसाई परिवार में जन्मा यह खिलाडी साल 2011 में धर्म परिवर्तन करते हुए इस्लाम धर्म को अपना चुका है। जिसका कई लोगों द्वारा उनके इस्लाम धर्म अपनाने का कारण हाशिम अमला, इमरान ताहिर और टीम मैनेजर मोहम्मद मोसा जी को बताया गया। लेकिन इन सारी बातों को खुद ही खारिज करते हुए पार्नेल द्वारा कहा गया, कि उन्होंने मुस्लिम धर्म को बहुत समझने और पढ़ने के बाद ही अपनाया है।

कृपाल सिंह (भारत)

भारत के लिए साल 1955 से 1964 के बीच में 14 टेस्ट मैच खेलने वाले भारतीय खिलाड़ी कृपाल सिंह भी इस लिस्ट में शामिल है। सिख परिवार में जन्मे कृपाल सिंह ने एक ईसाई लड़की से शादी की थी। जिसके बाद उन्होंने सिख धर्म से अपने धर्म का परिवर्तन कर ईसाई धर्म को अपनाया। धर्म परिवर्तन के चलते कृपाल सिंह ने पगड़ी पहनना और दाढ़ी रखना तक छोड़ दिया।

तिलकरत्ने दिलशान (श्रीलंका)

मुस्लिम परिवार में जन्मे तिलकरत्ने दिलशान द्वारा श्रीलंका क्रिकेट के लिए बड़ा और बेहतरीन योगदान दिया गया। श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी तिलकरत्ने दिलशान ने स्वयं से बनाए दिल स्कूप शॉट के लिए काफी लोकप्रियता हासिल की है। धर्म परिवर्तन से पहले इस श्रीलंकाई खिलाड़ी का नाम तुवान मोहम्मद दिलशान था। दिलशान अपने जीवन के शुरुआती दौर में बौद्ध धर्म से खूब प्रभावित हुए, जिसके चलते 16 वर्ष की उम्र में ही उन्होंने बौद्ध धर्म को अपना लिया, और उनका नाम तुवान मोहम्मद दिलशान की जगह तिलकरत्ने दिलशान में बदल दिया।

Read Also:-नशे की लत ने बिगाड़ा क्रिकेट का खेल, वेस्टइंडीज के इस धुरंधर विकेटकीपर का अचानक हुआ निधन

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *