Ben Stokes एमएस धोनी के अरमानों पर नहीं उतरेंगे खरे, ऑक्शन के बाद 3 कारणों से हुआ साबित

IPL 2023: इंग्लैंड के ऑलराउंडर खिलाड़ी Ben Stokes को चेन्नई सुपर किंग्स द्वारा मिनी ऑक्शन के दौरान बड़ी बोली लगाते हुए 1625 करोड़ रुपए में खरीद कर अपने खेमे में शामिल कर लिया गया जबकि इस खिलाड़ी का बेस प्राइस मात्र दो करोड़ रुपए ही था चेन्नई के इतिहास में यह सबसे महंगा खिलाड़ी साबित हुआ है ऑक्शन के दौरान इस खिलाड़ी को खरीदने के लिए मुंबई इंडियंस राजस्थान रॉयल्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु जैसी टीमों के द्वारा बोली लगाई गई थी।

लेकिन आखरी में सीएसके उन्हें अपनी ही टीम में शामिल करने में कामयाब साबित हुई हालाकी बेन स्टोक्स चेन्नई सुपर किंग्स के 16 करोड़ रुपए पर पानी फेर सकते हैं इसके पीछे के कई कारण बताए जा रहे हैं एम एस धोनी के अरमानों को कहीं यह खिलाड़ी मिट्टी में ना मिला दे इस रिपोर्ट के मुताबिक हम ऐसे तीन कारणों के बारे में बताएंगे जो इस बात को पूर्ण रूप से स्पष्ट कर देंगे।

गेंदबाजी इकोनॉमी रेट रहा बेहद खराब

अपने बल्ले से रन बनाने के साथ-साथ यह खिलाड़ी गेंदबाजी में भी महारथ रखता है। लेकिन इस खिलाड़ी की खराब गेंदबाजी और महंगा इकोनामी रेट चेन्नई सुपर किंग्स के लिए कहीं परेशानी का कारण न बन जाए। अगर उनके आईपीएल गेंदबाजी करियर पर नजर डाली जाए, तो 43 मैचों में वह मात्र 28 विकेट ही हासिल कर सके, जो प्रति मैच 1 विकेट से भी आधा कम रहा।

कंजूस गेंदबाजों को आईपीएल में कोई महत्व नहीं दिया जाता है। चेन्नई के ड्वेन ब्रावो और दीपक चाहर जैसे गेंदबाज बहुत ही किफायती गेंदबाजी के लिए जाने जाते हैं, और यह खिलाड़ी अंत में विकेट चटकाने की भी काबिलियत रखते हैं। ऐसी स्थिति में बेन स्टोक्स पर भरोसा करना सीएसके की बड़ी भूल हो सकती है, क्योंकि आईपीएल में खेलते हुए वह लगभग 9 की इकोनामी से रन लुटाते नजर आए हैं। भारत में भी इस खिलाड़ी का गेंदबाजी रिकॉर्ड कुछ खास नहीं रहा है। 14 मैच में वह मात्र 9 विकेट और 9 की इकोनामी से ही रन बना सका है।

बल्लेबाजी रिकॉर्ड रहा बेहद निराशाजनक

अपने T20 करियर के अधिकांश मैच बेन स्टोक्स ने भारत से बाहर ही खेले हैं, जहां उनका प्रदर्शन काफी बेहतरीन रहा है। हाल ही में ऑस्ट्रेलिया की पिचों पर T20 वर्ल्ड कप में बेहतरीन प्रदर्शन करने के कारण ही इस खिलाड़ी को आईपीएल में चुना गया है, लेकिन आईपीएल विदेशों में नहीं बल्कि भारत की घास वाली पिचों पर खेला जाता है, जहां उनका बल्लेबाजी रिकॉर्ड कुछ खास अहमियत नहीं रखता है।

साल 2016 से लेकर साल 2021 तक बेन स्टोक्स भारत में सिर्फ 14 मैच ही खेले हैं, जिसमें वह 375 रन बनाने में कामयाब रहे। अब उनकी आईपीएल बल्लेबाजी पर एक नजर डालेंगे, जहां वह 43 मैचों में सिर्फ 920 रन बनाने में कामयाब रहे। इस दौरान स्टोक्स का बल्लेबाजी औसत भी 25.56 का ही रहा है, जो चेन्नई के लिए चिंताजनक स्थिति पैदा कर सकता है। उनके यह आंकड़े उनके फ्लॉप होने का संकेत दे रहे हैं।

भारतीय कंडीशन में नहीं हो पाते फिट

भारतीय स्थिति में एक विदेशी खिलाड़ी को ढलना बहुत मुश्किल होता है। भले ही बेन स्टोक्स एक अनुभवी खिलाड़ी क्यों ना हो, लेकिन भारत में इस खिलाड़ी को कड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ा है। जैसा कि उनकी बल्लेबाजी और गेंदबाजी स्टेटस में देखा गया, कि उनका प्रदर्शन औसत दर्जे का रहा है।

ऐसी स्थिति में आईपीएल में चेन्नई के साथ मिलकर इस खिलाड़ी को अपना बेस्ट प्रदर्शन दे पाना कोई आसान काम नहीं होगा। चेन्नई जिस तरह से उन पर 16.25 करोड़ का बड़ा दांव लगा चुकी है, तो जाहिर है कि वह उनसे बेहतरीन प्रदर्शन करने की उम्मीद लगाएगी। ऐसा सिर्फ सीएसके ही नहीं बल्कि क्रिकेट विद्वानों का भी मानना है, अब यह देखना बहुत ही दिलचस्प होने वाला है, कि आखिर इस मील के पत्थर से स्टोक्स कैसे बाहर निकलते हैं।

Read Also:-आईपीएल के सबसे महंगे खिलाड़ी सैम करन की गर्ल फ्रेंड की खूबसूरती के आगे पानी भरती है बॉलीवुड हसीनाएं, आप भी देख लीजिए तस्वीर

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *