टीम इंडिया की जीत के बावजूद इस दिग्गज ने जताई नाराजगी, साधु निशान ने कोच पर कहा- राहुल द्रविड़ की सोच जरूरी नहीं

टीम इंडिया की जीत के बावजूद इस दिग्गज ने जताई नाराजगी, साधु निशान ने कोच पर कहा- राहुल द्रविड़ की सोच जरूरी नहीं

भारतीय क्रिकेट टीम ने शुक्रवार रात खेले गए पहले टी20 मैच में वेस्टइंडीज को 68 रन से हरा दिया। टीम ने भले ही मैच जीत लिया हो, लेकिन भारत के पूर्व चयनकर्ता और कप्तान कृष्णमाचारी श्रीकांत इस जीत के बाद भी खुश नहीं हैं और उन्होंने टीम चयन पर सवाल खड़ा कर दिया है. श्रीकांत ने प्लेइंग-11 पर सवाल उठाते हुए टीम के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ पर भी निशाना साधा और कहा कि वह राहुल द्रविड़ की सोच नहीं चाहते . भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 6 विकेट खोकर 190 रन बनाए। रोहित शर्मा ने शानदार अर्धशतक जमाया और अंत में दिनेश कार्तिक ने आक्रामक खेल दिखाया।

भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए आठ विकेट पर 190 रन बनाए। इसके लिए कप्तान रोहित शर्मा ने 64 रन की साझेदारी की। दिनेश कार्तिक 41 रन बनाकर नाबाद रहे। वेस्टइंडीज की टीम इस लक्ष्य को हासिल नहीं कर सकी और 20 ओवर खेलकर आठ विकेट के नुकसान पर 122 रन ही बना सकी। इस जीत के साथ भारत ने सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली है।

हुड्डा को मिलना चाहिए था मौका
श्रीकांत का कहना है कि दीपक हुड्डा को पहले मैच में श्रेयस अय्यर को प्लेइंग इलेवन में शामिल करना चाहिए क्योंकि वह एक बेहतरीन ऑलराउंडर हैं और टीम को ऐसे खिलाड़ियों की सख्त जरूरत है। फैन कोड पर बोलते हुए श्रीकांत ने कहा, “हुड्डा कहां हैं? उन्होंने टी20 में अच्छा प्रदर्शन किया। उन्होंने वनडे में भी अच्छा प्रदर्शन किया। उन्हें टीम में होना चाहिए था। टी20 में आपको यह समझना होगा कि आपको ऑलराउंडर, बैटिंग ऑलराउंडर, बॉलिंग ऑलराउंडर की जरूरत होती है, इसलिए आपके पास जितने ज्यादा ऑलराउंडर होंगे, आपके लिए उतना ही अच्छा होगा।

राहुल को नहीं सोचना चाहिए
श्रीकांत के साथ भारत के पूर्व स्पिनर प्रज्ञान ओझा भी थे और उन्होंने राहुल द्रविड़ का बचाव किया। प्रज्ञान ने कहा, ‘राहुल भाई का मानना ​​है कि अगर किसी खिलाड़ी ने अतीत में आपके लिए अच्छा प्रदर्शन किया है तो आपको उसका समर्थन करना चाहिए। उसके बाद आपको अन्य विकल्पों पर विचार करना चाहिए।”

प्रज्ञा के इतना कहते ही श्रीकांत ने उन्हें तुरंत रोका और जवाब दिया, ”हमें राहुल द्रविड़ की सोच नहीं चाहिए. आपके विचारों की आवश्यकता है, अभी दें। इस पर प्रज्ञान ने कहा, ‘हूडा होना चाहिए। स्पष्ट रूप से।” श्रीकांत ने कहा, बस।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.