इधर भारत ने अफगानिस्तान को रौंदा, उधर आईसीसी ने पाकिस्तान के साथ कर दिया बड़ा खेल, दे दिया डिमेरिट पॉइंट, अब लग सकता है बैन

इधर भारत ने अफगानिस्तान को रौंदा, उधर आईसीसी ने पाकिस्तान के साथ कर दिया बड़ा खेल, दे दिया डिमेरिट पॉइंट, अब लग सकता है बैन

एशिया कप 2022 का पिछला मुकाबला भारत और अफगानिस्तान के बीच खेला गया था, जिसमे टीम इंडिया को 101 रनों से जीत मिली थी। लेकिन फिर भी भारत इस टूर्नामेंट का फाइनल मैच नहीं खेल पाएगा, क्योंकि उन्हें पिछले दोनों मुकाबलों के दौरान हार का सामना कर्ण पड़ा था।

भारतीय टीम
इस टूर्नामेंट का फाइनल मैच पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच 11 सितम्बर को खेला जाएगा। लेकिन उससे पहले 9 सितंबर को इन दोनों टीमों के बीच एक मैच होने वाला है। उस मैच में इनमे से कोई भी जीतेगी, उससे इस टूर्नामेंट पर कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है, क्योंकि भारत और अफगानिस्तान एशिया कप से पहले ही बाहर हो चुका है।

आईसीसी ने पाकिस्तान के साथ कर दिया बड़ा खेल
पाकिस्तान की टीम अपने पिछले मुकाबले में अफगानिस्तान को हराकर एशिया कप 2022 के फाइनल में जगह बनाई थी। उस दौरान दोनों टीमों की तरफ से कांटे की टक्कर देखने को मिली थी, इसी वजह से पाकिस्तान को सिर्फ एक विकेट से जीत मिला था। उस मुकाबले के दौरान एक ऐसी घटना देखने को मिली थी, जिसकी वजह से हर क्रिकेट फैंस निराश हुए थे।

पिछले मुकाबले के दौरान पाकिस्तान के बल्लेबाज आसिफ अली और अफगानिस्तान के तेज गेंदबाज फरीद अहमद मलिक एक दूसरे के संपर्क में आए थे। उस दौरान इन दोनों के बीच मैदान पर बहस छिड़ गई थी, जिस वजह से अंपायर ने आसिफ अली और फरीद अहमद दोनों पर मैच फीस का 25 प्रतिशत जुर्माना लगा दिया है।

आईसीसी ने आसिफ और फरीद को स्तर एक का अपराध पाया है। इस वजह से उन्होंने इन दोनों के लिए एक-एक डिमेरिट पॉइंट जोड़ दिया है। आईसीसी डिमेरिट अंक के तहत जब कोई खिलाड़ी मैदान पर कुछ भी गलत करने की कोशिश करता है तो इसे उसके उपर लगाया जाता है।

आईसीसी ने इसे साल 2016 में शुरू किया था, इस नियम के तहत जब किसी खिलाड़ी पर दो साल में 4 डिमेरिट अंक जुड़ जाता है तो आईसीसी उसके उपर कुछ मैचों के लिए बैन लगा सकती है। इस वजह से पाकिस्तान के विस्फोटक बल्लेबाज आसिफ अली और अफगानिस्तान के तेज गेंदबाज फरीद अहमद मलिक को मैदान पर इस तरह की घटना से बचना होगा। अन्यथा आईसीसी उनके उपर बैन लगा सकती है।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.