जिम्बाब्वे को हल्के में लेने की गलती ना करे भारत, महेंद्र सिंह धोनी भी मान चुके हैं इस टीम से हार

जिम्बाब्वे को हल्के में लेने की गलती ना करे भारत, महेंद्र सिंह धोनी भी मान चुके हैं इस टीम से हार

भारत ग्रुप स्टेज का आखिरी मैच कल ज़िम्बाब्वे के खिलाफ खेलेगी. यह मुक़ाबला मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जाएगा. अगर भारत यह मैच जीतता है तो वह ग्रुप 2 की टाॅप टीम बन जायेगी. भारत ने अभी तक चार मैचों तीन में जीत हासिल की है और वह इस समय ग्रुप 2 की शीर्ष टीम है. लेकिन भारत को जिम्बाब्वे को कमजोर टीम समझने की गलती नही करनी चाहिए.

जिम्बाब्वे को न लें हल्के में
जिम्बाब्वे भले ही शीर्ष टीमों में नही आती है, लेकिन हाल के दिनों में जिम्बाब्वे ने जबरदस्त खेल दिखाया है. इसी टूर्नामेंट में जिम्बाब्वे ने पाकिस्तान जैसी मजबूत टीम को एक रन से हराया था. टी20 विश्व कप में भारत और जिम्बाब्वे का अब तक कोई भी मुक़ाबला नही हुआ है. लेकिन आईसीसी टूर्नामेंट के अलावा भारत और जिम्बाब्वे के बीच सात मुकाबला खेला गया है, जिसमें भारत को पांच में जीत तो दो में उनको हार मिली है.

पिछले महीने जिम्बाब्वे ने ऑस्ट्रेलियाई टीम को भी हराया था. वैसे भी इस बार का टूर्नामेंट बड़े उलटफेर के लिए जाना जायेगा. टूर्नामेंट के पहले ही मैच में श्रीलंका को नामीबिया ने हरा दिया था. इसलिए भारतीय टीम को जिम्बाब्वे से सावधान रहना चाहिए.

जिम्बाब्वे ने कप्तान धोनी को कर दिया था हैरान
भारत के सबसे सफल कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भी जिम्बाब्वे का लोहा मानते हैं. क्योंकि 18 जून 2016 को जिम्बाब्वे ने भारत को धुल चटा दी थी. पहले बल्लेबाजी करते हुए ज़िम्बाब्वे ने 170 रन का स्कोर खड़ा किया था. जवाब में भारतीय टीम 6 विकेट पर 168 रन ही बना सकी थी.

उस मैच में धोनी ने 17 गेंदों पर एक चौके की बदौलत 19 रन बनाए और नाबाद लौटे, लेकिन भारत हार गया. ऐसा कम ही होता है कि धोनी नाबाद लौटें और भारत मैच हार जाए, लेकिन उस मैच में जिम्बाब्वे ने शानदार प्रदर्शन किया था. अगर भारत जिम्बाब्वे को हल्के मे लेता है तो भारत की सेमीफाइनल की उम्मीदों पर पानी भी फिर सकता है.

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *