IPL 2023 जानिए काले धन से लेकर मैच फिक्सिंग तक भारत की छवि को दागदार करने वाले आईपीएल के 5 काले रहस्य

IPL विश्व का सबसे बड़ा और दिलचस्प टूर्नामेंट है। जिसमें ना सिर्फ दर्शकों बल्कि खिलाड़ियों में भी इस लीग में खेलने के लिए गहरी उत्सुकता नजर आती है। क्योंकि यही वह लीग है, जिसके चलते वह मोटी राशि कमा सकते हैं। पूरी दुनिया की सर्वश्रेष्ठ T20 लीग आईपीएल मानी जाती है, बड़े-बड़े दिग्गज जैसे एबी डिविलियर्स, रिकी पोटिंग, एडम गिलक्रिस्ट आदि बड़े खिलाड़ी भी इस टूर्नामेंट में खेल चुके हैं।

लेकिन पिछले कुछ समय से आईपीएल कुछ बड़े विवादों से गुजर रहा है, जिसके चलते आईपीएल के चरित्र पर काफी कीचड़ भी उछला है, आइए आज हम आपको इस आर्टिकल के जरिए ऐसे आईपीएल के पांच काले सच के बारे में बताएंगे जिन्हें जानकर आप आश्चर्यचकित हो उठेंगे।

फेक आईपीएल प्लेयर ब्लॉग

आईपीएल 2009 के समय एक ब्लॉग बहुत अधिक चर्चा में था, जिस पर कोलकाता नाइट राइडर्स के टीम के बारे में कुछ लिखा गया था। बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान के लिए इस ब्लॉग में बहुत ही गंदे शब्दों का यूज किया गया था, इसके साथ साथ सचिन तेंदुलकर के लिए भी कुछ खराब शब्द लिखे हुए थे।

शुरुआत में ब्लॉग लिखने का शक पूर्व दिग्गज खिलाड़ी आकाश चोपड़ा और संजय बांगर पर गया था। क्योंकि उस ब्लॉग में इस बात का भी उल्लेख था, की प्लेइंग इलेवन में जगह न मिलने के चलते अपनी भड़ास निकाल रहे हैं। लेकिन यह सच्चाई तो बाद में खुली जब मालूम चला कि यह ब्लॉग किसी अनुपम मुखर्जी नाम के व्यक्ति ने लिखा था।

दर्शकों के बुरे बर्ताव को लेकर चेयर लीडर्स का बयान

पहले आईपीएल में चीयरलीडर्स देखी जाती थी। विकेट में चौका, छक्का लगने पर अपनी अपनी टीम को वह चीयरलीडर्स किया करती थी। लेकिन इन चीयरलीडर स्कोर आईपीएल से कुछ समय बाद हटा दिया गया था जिसके पीछे कहीं ना कहीं उनकी सेफ्टी छुपी हुई थी। क्योंकि स्टैंड्स में बैठे दर्शक इन चीयरलीडर्स के साथ गलत बर्ताव करते थे।

साल 2012 में विदेशी चीयर लीडर्स द्वारा यह कहकर सबको आश्चर्यचकित कर दिया गया, कि भारतीय दर्शक उन्हें गंदे गंदे इशारे करते हुए अश्लील शब्दों का प्रयोग भी करते हैं। छोटे-छोटे कपड़े पहना कर इ्न चीयरलीडर्स को नाचने के लिए कहा जाता है, जबकि भारतीय चीयर लीडर्स को पूरे और परंपरागत कपड़े पहना कर नचाया जाता है।

देर रात पार्टी

आईपीएल के इस टूर्नामेंट में आफ्टर पार्टी का चलन तो शुरु से ही चलता आ रहा है। मैच समाप्त होने के बाद खिलाड़ी पार्टी करते दिखाई देते थे, या जब अगले मैच के बीच कुछ समय मिलता था, तो खिलाड़ी मिलकर आपस में पार्टी कर लेते थे। जिसके चलते हुए वह मस्ती भी करते थे, लेकिन इस बात को लेकर भी बहुत बवाल मचा। बताया जाता है कि विदेशी चीयर गर्ल्स द्वारा कुछ खिलाड़ियों के ऊपर छेड़खानी जैसे आरोप लगाए गए। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि 2 खिलाड़ी तो इतना अधिक गिर गए थे, कि उन्होंने रेव पार्टी में भी भाग लिया और अवैध रूप से ड्रग्स लेते भी पाए गए।

काला धन

आईपीएल में काले धन का प्रयोग किया जाता है। जिसकी खबर बीसीसीआई को कानों कान तक नहीं मिल पाती।

आईपीएल के अनकैप्ड खिलाड़ियों के पास आय के अप्रत्यक्ष तरीके मौजूद होते हैं। उल्लेखनीय रूप से इन खिलाड़ियों को आर और कई लग्जरी वस्तुएं एवं व्यवसायिक भागीदारी जैसे कई पुरस्कार भी दिए जाते हैं। लेकिन इस बारे में बीसीसीआई को किसी प्रकार से कोई जानकारी नहीं मिल पाती।

मैच फिक्सिंग

आईपीएल का मैच फिक्सिंग विवादों में काफी गहरा नाता रहा है। साल 2012 और 2013 में कुछ खिलाड़ियों का नाम स्पॉट फिक्सिंग को लेकर सामने आया। बीसीसीआई द्वारा कड़ा रुख अपनाते हुए इन खिलाड़ियों के ऊपर आजीवन प्रतिबंध भी लगाए गए। जिसमें श्रीसंत जैसे बड़े खिलाड़ियों के नाम भी मौजूद थे। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि साल 2015 में चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स के ऊपर स्पॉट फिक्सिंग को लेकर ही 2 साल का प्रतिबंध भी लगाया गया था।

Read Also:-इंग्लैंड के इन 3 खिलाडियों की IPL 2023 की नीलामी में होगी सबसे अधिक कीमत

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *