ODI के बाद अब Test Series पर भी मरणाया संकट, यह 3 खिलाड़ी डुबो सकते हैं नैय्या

टीम इंडिया बांग्लादेश के खिलाफ एकदिवसीय सीरीज खेलने के बाद अब दो टेस्ट मैचों की Test Series जीतने की तैयारियों में लग गई है। आगामी 14 दिसंबर बुधवार से इस सीरीज की शुरुआत होने वाली है।

मेजबान टीम द्वारा एकदिवसीय सीरीज में मैन इन ब्लू को 2-1 से बहुत ही बुरी तरह से हराया गया। इस सीरीज को हारने के बाद अब आगामी टेस्ट सीरीज पर टीम की निगाहें अवश्य होंगी। लेकिन मेहमान टीम के लिए अपने खराब प्रदर्शन के चलते इस टेस्ट सीरीज को भी जीतना नामुमकिन ही प्रतीत हो रहा है।

वनडे सीरीज के दौरान टीम की हार का मुख्य कारण खिलाड़ियों का खराब प्रदर्शन बताया जा रहा है इसके चलते अब कयास लगाए जा रहे हैं कि एक बार फिर से भारत अपने खिलाड़ियों के खराब प्रदर्शन के चलते टेस्ट सीरीज जीतने में भी नाकाम साबित हो सकता है आज इस आर्टिकल के जरिए हम ऐसे खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे जो भारत की हार का मुख्य कारण साबित हो सकते हैं।

केएल राहुल

भारतीय टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज इस समय कुछ खास प्रदर्शन करने में नाकाम साबित हो रहे हैं। दाएं हाथ के इस बल्लेबाज द्वारा कुछ मुकाबलों के दौरान अच्छा प्रदर्शन किया जाता है, तो कुछ के दौरान फ्लॉप साबित हो जाता है। इस समय राहुल में किसी भी प्रकार की स्थिरता देखने को नहीं मिल रही है। बांग्लादेश के खिलाफ खेली गई सीरीज के दौरान भी कुछ ऐसा ही सामने आया। तीन मैचों की इस सीरीज के दौरान ये खिलाड़ी एक ही मुकाबले में सिर्फ 67 रन बना सका।

इसके बाद वह सभी मैचों में फ्लॉप साबित हुआ। वहीं पूरी सीरीज के दौरान बल्लेबाजी में वह सिर्फ 95 रन ही बना सका। पिछले कई मैचों में केएल राहुल के खराब प्रदर्शन के कारण ही टीम को हार झेलनी पड़ रही है, इसलिए यह कहना कदापि गलत नहीं होगा, कि आगामी टेस्ट सीरीज में भी केएल राहुल का प्रदर्शन टीम इंडिया को निराश कर सकता है।

उमेश यादव

बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया को हराने वाले खिलाड़ियों में उमेश यादव का नाम भी शामिल है। पिछले समय से यह तेज गेंदबाज टीम से बाहर चल रहा है। जनवरी 2022 में आखिरी बार वह इस फॉर्मेट में खेलते हुए नजर आए थे, जहां वह कुछ खास कमाल नहीं दिखा सके।

इसके अतिरिक्त यह खिलाड़ी अक्टूबर में साउथ अफ्रीका के खिलाफ T20 मैच में खेलते हुए भी फ्लॉप साबित हुआ। पिछले कुछ समय से लगातार उमेश के परफॉर्मेंस ग्राफ में गिरावट देखने को मिल रही है। अगर उनके टेस्ट करियर के आंकड़ों पर एक नजर डालें, तो वह 102 पारियों में 158 विकेट हासिल करने में कामयाब रहे।

जयदेव उनादकट

बांग्लादेश के खिलाफ इस खिलाड़ी को मोहम्मद शमी के रिप्लेस पर टीम में शामिल किया गया था। जयदेव उनादकट 12 सालों से टेस्ट क्रिकेट से दूर रह चुके हैं, लेकिन कंधे की चोट के चलते मोहम्मद शमी इस सीरीज में भाग ले पाने में नाकाम साबित हो रहे थे। इसीलिए इस मुश्किल की घड़ी में टीम इंडिया ने जयदेव को टेस्ट टीम में बुलाया। साल 2010 में यह खिलाड़ी अपना आखिरी मुकाबला खेल सका था। अब तक वह 7 वनडे और 10 T20 इंटरनेशनल मैच खेला है।

अनुभवहीन और लंबे समय से टेस्ट क्रिकेट से दूर रहे जयदेव भारत की हार का कारण साबित हो सकते हैं। वनडे सीरीज के दौरान बांग्लादेश बेहतरीन प्रदर्शन कर जीत हासिल करने में कामयाब रहा। इसलिए अब टेस्ट टीम में भी वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिखाना चाहेगा। ऐसी सिचुएशन में यह खिलाड़ी बांग्लादेश के खिलाफ कमजोर साबित हो सकता है। यदि ऐसा हुआ तो संभावना जताई जा रही है, कि भारत उनकी वजह से यह टेस्ट सीरीज हार सकता है।

Read Also:-किसी महूसियत से कम नहीं है भारतीय टीम के लिए साल 2022, एक दो नहीं पूरे 8 बार शर्मनाक हार झेला भारत

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *